symbolic photo

बिहार के बेगूसराय में से 9 साल की नाबालिक बच्ची को रेड एरिया में महज 50,000 में बेचने का मामला सुर्खियों में आया है. यह काम किसी और ने नहीं बल्कि बच्ची के सगे चाचा ने किया है. हालांकि पुलिस ने 24 घंटे के अंदर बच्ची को बरामद कर लिया. इसके साथ ही पुलिस ने आरोपी चाचा और लड़की को खरीदने वाली आश्मीन नामक महिला को भी गिरफ्तार किया.

आश्मीन नामक महिला रेड लाइट एरिया में ही रहती है. बताया जा रहा है कि 25 जून की शाम को प्रियांशु पाठक अपने भाई के घर पहुंचा. वहां 9 साल की भतीजी को कन्या पूजन के बहाने से वह अपने साथ ले गया, फिर उसे मुजफ्फरपुर के रेड लाइट एरिया में 50,000 में बेच दिया. 25 जून को देर शाम तक लड़की वापस नहीं आई तो घर वालों ने खोजबीन की.

खोजबीन करने के बाद जब वह कहीं नहीं मिली तो बच्ची के पिता ने इसकी शिकायत थाने में की. पुलिस ने आरोपी प्रियांशु पाठक को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार करने के बाद उससे कड़ी पूछताछ की गई तो उसने बच्ची को मुजफ्फरपुर में बेचने की बात को कबूल किया, जिसके बाद पुलिस की टीम ने मुजफ्फरपुर रेड लाइट एरिया में छापेमारी करके बच्ची को छुड़ा लिया.

बच्ची को खरीदने वाली महिला को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. बच्ची को बेचने वाले और खरीदने वाले दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here