Deepak Chaurasia ने अफगानिस्तान के मुसलमानों को लेकर किया ट्वीट और हो गए ट्रोल

2
Deepak Chaurasia

पूरे अफगानिस्तान पर एक तरह से तालिबान का कब्जा हो गया है. तालिबान ने अफगानिस्तान के अंदर शरिया कानून फिर से लागू करने की बात कही है. तालिबान के सत्ता में वापसी के संकेत के बाद से ही अफगानिस्तान में भगदड़ मची हुई है. कई लोग देश छोड़कर बाहर जा रहे हैं.

दीपक चौरसिया (deepak chaurasia)

इसी को लेकर न्यूज़ रीडर दीपक चौरसिया (deepak chaurasia) ने एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने भारतीय मुसलमानों पर कटाक्ष करने की कोशिश की अफगानिस्तान के मुसलमानों का नाम लेकर. दीपक ने ट्वीट किया कि, अफ़ग़ानिस्तानी मुसलमान अपनी जान बचाने के लिए भारत में पनाह माँग रहे हैं. अब बताओ इस देश में रहकर डर का झूठा माहौल बनाने वालों. शर्म बची है ?

दीपक चौरसिया (deepak chaurasia) के इस ट्वीट के बाद दीपक चौरसिया ट्रोल हो गए. कई लोगों ने दीपक चौरसिया का जवाब दिया. @ShyamMeeraSing ने लिखा कि, भारत में किसान अपनी जान बचाने के लिए 9 महीने से आंदोलन कर रहे हैं. महिलाओं के रेप करने पर दंगाई रैलियाँ निकालते हैं. लिंचिंग करने वालों को भाजपा के मंत्री माला पहनाते हैं, संसद में मोदी चर्चा नहीं होने देता. तालिबान की बुराई करते हो और मोदी की चाटुकारिता करते हो. कुछ शर्म बची है?

इसी तरह से @Khurshe01847653 नामक यूजर ने लिखा कि हमें समय रहते तय कर लेना चाहिए कि मसखरी के पेशे में करियर बनाना है या पत्रकारिता में… वर्ना व्यक्ति ना पत्रकार रहता और ना मसखरा! संवेदनशीलता के बिना तो पत्रकारिता की कल्पना भी नहीं की जा सकती! और मसखरे भी संवेदनशील होते हैं!

आपको बता दें कि अमेरिकी फौज लगभग 20 सालों से अफगानिस्तान के अंदर डेरा जमाए हुए थी और एक तरह से अमेरिका ने अलकायदा का खात्मा कर दिया. अमेरिका को उम्मीद थी कि जो ट्रेनिंग अफगानिस्तान की सेना को अमेरिका द्वारा दी गई है उस के दम पर अफगानिस्तान की सेना तालिबान को रोक लेगी. लेकिन ऐसा हो ना सका. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी को देश छोड़कर भागना पड़ा.

अब पूरे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा है. अफगानिस्तान से जो खबरें आ रही हैं और सोशल मीडिया के जरिए से जो वीडियो सामने आ रहे हैं उसको देखकर ऐसा लग रहा है कि अफगानिस्तान की जनता तालिबान के आने से डरी हुई है. अफगानिस्तान के लोग देश छोड़कर जाना चाहते हैं. कई ऐसे वीडियो आए हैं, जिसमें एरोप्लेन के आसपास लोग दौड़ते हुए दिखाई दिए हैं, ऊपर चढ़े हुए दिखाई दिए हैं.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here