Eknath Shinde Government

महाराष्ट्र में नई नवेली एकनाथ शिंदे सरकार (Eknath Shinde Government) का पहला शक्ति परीक्षण आज यानी 3 जुलाई को होगा. आज विधानसभा स्पीकर का चुनाव भी होना है. इस बीच महाविकास आघाडी सरकार को गिराने वाले शिंदे गुट के विद्रोह के बाद शिवसेना ने पार्टी के सभी पदाधिकारियों से वफादारी का एफिडेविट मांगा है, इसके लिए 2 दिन की डेडलाइन दी गई है.

पार्टी क्रम में सबसे निचले स्तर पर उपशाखा प्रमुख से शुरू होने वाले सभी पदाधिकारियों को यह शपथ पार्टी मुख्यालय पर जमा करवाना है. माना जा रहा है कि उद्धव ठाकरे और शिंदे खेमे के बीच शिवसेना पर दावेदारी को लेकर अगर कोई कानूनी जंग छिड़ती है तो यह एफिडेविट इस्तेमाल किया जाएगा.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए बीजेपी पर हमला बोला है. लिखा गया है, एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बने और उनके मंत्रिमंडल में देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री का पद स्वीकार करना पड़ा, यही असली भूकंप है. आगे लिखा गया कि, फडणवीस फिर आए लेकिन वह इस तरह से आधे आएंगे ऐसा किसी को नहीं लगा था. अब राज्य में क्या होगा?

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में रविवार को विधानसभा स्पीकर के लिए चुनाव होना है. शिवसेना के राजन सालवी ने स्पीकर पद के लिए नामांकन दाखिल किया है. वहीं महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष के चुनाव के लिए शिवसेना ने व्हिप जारी किया है. इसमें शिवसेना के विधायकों को 3 और 4 जुलाई को विधानसभा में हाजिर रहने को कहा गया है.

आपको बता दें कि शिवसेना के विद्रोही आखिरकार मुंबई आ गए हैं. इसी के साथ रविवार से महाराष्ट्र विधानसभा में पावर प्ले की शुरुआत होगी. शतरंज की बिसात पर मोहरे फिर से व्यवस्थित हो गए हैं. विद्रोही विधायक 10 दिनों के बाद शनिवार रात मुंबई लौटे. वह मुंबई तो वापस आ गए, लेकिन अभी भी एक फाइव स्टार होटल में शरण लिए हुए हैं. विधानसभा में दो महत्वपूर्ण दिन बीतने से पहले घर जाना नसीब नहीं होगा.

स्पीकर चुनने और विश्वास मत हासिल करने के लिए आज रविवार से दो दिवसीय विशेष विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है. बीजेपी की मजबूत संख्या में होने के कारण बागी नेतृत्व वाली सरकार के पास अपना रास्ता बनाने की संभावनाएं कितनी है, यह शिवसेना विधायकों पर निर्भर करती है. हालांकि आगामी सरकार कानूनी उलझन में अभी तक फंसी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here