Kangana Ranaut Anand Sharma

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने 1947 में मिली आजादी को लेकर बहुत ही निंदनीय बयान पद्मश्री मिलने के बाद दिया है. वह भी एक न्यूज़ चैनल पर बैठकर और सबसे बड़ी बात यह रही कि न्यूज़ चैनल पर ऐसा बयान देने के बाद भी कंगना रनौत को लगातार बोलने दिया गया. कंगना रनौत ने कहा था कि 1947 में मिली आजादी दरअसल आजादी नहीं थी बल्कि वह भीख थी, असली आजादी तो हमें 2014 में मिली है.

कंगना के इस बयान की काफी आलोचना हो रही है. क्योंकि उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का अपमान किया है, क्रांतिकारियों का अपमान किया है, देश की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करने वालों का अपमान किया है और आजादी से लेकर 2014 तक जो भी प्रधानमंत्री रहे हैं उनका अपमान किया है.

कंगना रनौत के बयान के बाद कांग्रेस के G-23 के नेता आनंद शर्मा (Anand Sharma) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कंगना के बयान की कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए है.

आनंद शर्मा ने लिखा है कि, निंदनीय और पूरे देश को चौंकाने वाला. सुश्री कंगना रनौत का बयान महात्मा गांधी, पंडित नेहरू और सरदार पटेल जैसे साहसी स्वतंत्रता सेनानियों और सरदार भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद और कई अन्य क्रांतिकारियों के बलिदान का अपमान करता है.

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि, माननीय राष्ट्रपति को सुश्री रनौत को दिया गया पद्म पुरस्कार तुरंत वापस लेना चाहिए. इस तरह के पुरस्कार देने से पहले मानसिक मनोचिकित्सीय मूल्यांकन किया जाना चाहिए ताकि भविष्य में ऐसे व्यक्ति राष्ट्र और उसके नायकों का अपमान न करें.

उन्होंने एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर लिखा है कि, प्रधानमंत्री को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए और राष्ट्र को बताना चाहिए कि क्या वह सुश्री रनौत के विचारों का समर्थन करते हैं? यदि नहीं, तो सरकार को ऐसे लोगों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए.

आपको बता दें कि कंगना रनौत लगातार ऐसी बयानबाजी करती रहती है जिससे वह सुर्खियों में बनी रहे. लेकिन इस बार उन्होंने अपने बड़बोलेपन के कारण देश का अपमान किया है और अभी तक भाजपा के बड़े नेता इस मुद्दे पर चुप है. प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया है और उम्मीद भी यही है कि लिया अभी नहीं जाएगा.

यह भी पढ़े- कंगना राणावत के बयान पर आई Varun Gandhi की प्रतिक्रिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here