जयंत चौधरी ने मथुरा किसान पंचायत में किया आह्वान

0
jayant-chaudhary

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत की भावुकता के बाद मथुरा जिले में माहौल गरमा गया है. किसानों के आंदोलन के समर्थन में शनिवार को मथुरा के बाजना के मोरकी मैदान पर महापंचायत हुई. इसमें राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी समेत कई बड़े नेता शामिल हुए.

आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जाति-धर्म में बांटने वाली बीजेपी के लोगों का बहिष्कार करें. उन्होंने कहा कि कानून टूटने के लिए ही बनते हैं. अगर किसान कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं, तो आतंकवादी नहीं हो जाते. जयंत चौधरी ने कहा कि जब तक दिल्ली में धरना चल रहा है, तब तक प्रतिदिन मथुरा के गांवों से किसान दिल्ली जाएंगे.

इसके लिए शनिवार से आरएलडी गांव-गांव जाकर किसानों से संपर्क कर उन्हें जागरूक करेगी. उन्होंने कहा कि इस बार जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में उसी व्यक्ति को टिकट मिलेगा, जो किसान होगा. इसके लिए उसे किसान होने का सर्टिफिकेट दिखाना होगा. जयंत ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पंचायत चुनाव की अधिसूचना कल ही जारी कर दें और चुनाव करा लें, पता चल जाएगा कि किसान और अन्य जनता किसके साथ हैं.

आरएलडी उपाध्यक्ष ने कहा, राकेश टिकैत के हर आंसू का बदला किसान लेंगे. किसानों पर लाठी चलवा कर सरकार ने अपना इकबाल खो दिया है. इससे क्रूर और निर्दयी सरकार आज तक नहीं आई. उन्होंने कहा कि सोते हुए किसानों पर सरकार ने लाठीचार्ज करवाया है. किसानों का बदन लोहा है और दिल सोना है. पुलिसकर्मियों को भी थोड़ा लिहाज करना था. जयंत ने कहा कि चौधरी साहब (अजित सिंह) ने भी कहा है कि यह हमारे जीवन-मरण का सवाल है. किसान पर लठ चलवाए हैं, इसका सरकार को खामियाजा भुगतना ही पड़ेगा.

किसान महापंचायत के मंच से समाजवादी पार्टी (एसपी) के एमएलसी संजय लाठर और पूर्व मंत्री ठाकुर तेजपाल सिंह ने कहा कि बीजेपी को 2022 और 2024 के चुनाव में सबक सिखाया जाएगा. राकेश टिकैत के हर आंसू का हिसाब सरकार से समय पर लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here