मोदी ने ममता पर किया निजी हमला

0
Mamata

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के पहले राजनीतिक सरगर्मी इतनी बढ़ गई है कि घात-प्रतिघात से बढ़ कर कटुता और निजी हमले तक बात पहुँच गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निजी हमले किए और उन पर तंज किए.

कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रविवार को जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा- दीदी, यह तो अच्छा हुआ कि आप स्कूटी से गिर नहीं गईं, यदि आप गिर जाती तो जिस राज्य में वह स्कूटी बनी होती, उसे ही अपना दुश्मन बना लेतीं. कुछ दिन पहले ममता बनर्जी ने पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी कीमतों पर अपना विरोध जताने के लिए अपने घर से राज्य सचिवालय तक बिजली की स्कूटी से गईं थीं.

मोदी उसी पर तंज कर रहे थे. इसी तरह प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर तंज करते हुए कहा कि आप राज्य की दीदी थीं, लेकिन किसी एक की बुआ बन कर रह गईं. मोदी का इशारा ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की ओर था. नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर राज्य में ‘आशोल परिबोर्तन’ (असली बदलाव) का नारा उछाला और कहा कि परिवर्तन के नाम पर वाम मोर्चो को हटा कर राज्य की सत्ता पर दीदी ने कब्जा तो कर लिया, लेकिन परिवर्तन नहीं हुआ.

उन्होंने कहा, मैं ब्रिगेड ग्राउंड से आपको इस आशोल परिबोर्तन का विश्वास दिलाने आया हूँ. बंगाल के विकास का विश्वास, बंगाल में स्थितियों के बदलने का विश्वास, बंगाल में निवेश बढ़ने का विश्वास, बंगाल के पुनर्निर्माण का विश्वास, बंगाल की संस्कृति की रक्षा का विश्वास. उन्होंने निवेश लाने की बात कही, युवाओं को रोज़गार देने का आश्वासन दिया, सबके विकास का भरोसा दिया.

मोदी ने कहा, मैं विश्वास दिलाने आया हूँ कि आपके लिए, यहाँ के नौजवानों के लिए, किसानों, उद्यमियों, यहां की बहनों-बेटियों के विकास के लिए हम 24 घंटे दिन रात मेहनत से काम करेंगे. प्रधानमंत्री ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के नारे को उछालते हुए कहा कि उत्तर बंगाल हो या दक्षिण बंगाल, पश्चिमांचल हो या जंगलमहल, आदिवासी हो या दलित, पिछड़े, शोषित, वंचित या हमारे शरणार्थी भाई बहन, सभी पर बराबर ध्यान दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ शासन का मंत्र होगा. जहाँ उन्नयन सबका होगा, तुष्टिकरण किसी का नहीं. प्रधानमंत्री ने घुसपैठ की भी चर्चा की और कहा कि घुसपैठ और घुसपैठियों को रोका जाएगा. उन्होंने इस पर विस्तार से कुछ नहीं कहा, पर उनका इशारा बांग्लादेश से होने वाले घुसपैठ की ओर ही है. यह असम में एक मुद्दा हो सकता है, पश्चिम बंगाल में नहीं है.

ममता का पलटवार

विधानसभा चुनावों के मद्देनजर रविवार को पश्चिम बंगाल में सियासी हलचल अपने उफान पर रही. एक तरफ, पीएम नरेंद्र मोदी ने कोलकाता में बड़ी रैली कर मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और कांग्रेस वाम मोर्चा सरकार पर प्रहार किया. दूसरी तरफ, ममता बनर्जी ने महंगे होते जा रहे एलपीजी सिलेंडर के विरोध में सिलीगुड़ी में पदयात्रा निकाली.

इस दौरान ममता ने पीएम मोदी के आरोपों पर जमकर पलटवार किया. ममता बनर्जी ने कहा- खेला होबे.. देखा होबे.. जेता होबे .. (खेलेंगे .. देखेंगे .. जीतेंगे) हम लड़ेंगे, जीतेंगे और मोदी को हराएंगे. जो हमसे टकराएगा, चूर चूर हो जाएगा. मैं वन-ऑन-वन खेलने के लिए तैयार हूं. मोदी ने अपने भाषण पर ममता सरकार पर सिंडिकेट चलाने, कमीशन लेने और तोलाबाजी का आरोप लगाया था. इस पर ममता ने कहा कि पूरा देश जानता है कि सिंडिकेट तो नरेंद्र मोदी और अमित शाह का चलता है.

बंगाल में आएगी TMC, असल परिवर्तन दिल्‍ली में होगा

पदयात्रा से पहले आयोजित रैली में उपस्थित भीड़ से ममता ने कहा कि अगर वे (बीजेपी) वोट खरीदना चाहते हैं, तो पैसे लें और टीएमसी के लिए अपना वोट डालें. ममता ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी बड़ी बड़ी बातें करते हैं. कहते हैं कि बंगाल में परिवर्तन होगा. मैं आपसे कहती हूं कि बंगाल में टीएमसी आएगी और असस परिवर्तन अब दिल्‍ली में होगा.

‘झूठ बोलने की आदत पर मोदी को शर्मिंदा होना चाहिए’

प्रधानमंत्री पर जनता को गुमराह करने का आरोप मढ़ते हुए बनर्जी ने कहा कि मोदी ने इतने सालों में कई खोखले वादे किए और लोगों को अब उन पर विश्वास नहीं है. उन्होंने जानना चाहा कि ‘प्रधानमंत्री ने हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये क्यों नहीं जमा किए, जैसा कि उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले वादा किया था.

बनर्जी ने अपने संबोधन में कहा, आपने कई खोखले वादे किए हैं. लोग हमेशा आपके झूठ को स्वीकार नहीं करेंगे. हम मांग करते हैं कि आप एलपीजी सिलेंडर देश के हर नागरिक के लिए सस्ता करिए. आपने एलपीजी सिलेंडर आम आदमी की पहुंच से दूर कर दिया है. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मोदी को ‘झूठ बोलने की अपनी आदत पर शर्मिंदा होना चाहिए.

गुजराती में पढ़कर बांग्‍ला बोलते हैं मोदी

मुख्‍यमंत्री ने कहा, पीएम मोदी बांग्‍ला में भाषण देते हैं जबकि स्क्रिप्ट हमेशा गुजराती में लिखा होता है और उनके सामने पारदर्शी शीशे के अंदर रखा होता है. वह बहाना करते हैं कि वह अच्छी तरह बांग्ला भाषा जानते हैं. उन्होंने कहा, आपकी पार्टी ने विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ी. आपकी पार्टी ने बिरसा मुंडा का अपमान किया. आपकी पार्टी ने गलत तरीके से कहा कि रबिंद्रनाथ टैगोर का जन्म शांतिनिकेतन में हुआ. यह बंगाल और इसकी संस्कृति के बारे में आपके ज्ञान की गहराई को दर्शाता है. दंगा भड़काने वाली बीजेपी के खिलाफ लोगों से आवाज उठाने की अपील करते हुए बनर्जी ने कहा, बंगाल के लोग समुदाय और भाषा की बाधाओं से अलग शांति से रह रहे थे, जो राज्य में भगवा दल के सत्ता में आने के बाद काफी तनाव में रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here