अर्नब गोस्वामी के WhatsApp चैट पर प्रशांत भूषण का बड़ा दावा

0
prashant bhusan

चर्चित वकील प्रशांत भूषण ने दावा किया है कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी का एक कथित व्हाट्सएप चैट लीक हुआ है. प्रशांत भूषण ने अपने ट्विटर हैंडल पर कथित चैट का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है. उनके मुताबिक यह चैट अर्णब गोस्वामी और रेटिंग एजेंसी बार्क के सीईओ के बीच बातचीत की है.

प्रशांत भूषण ने अपने ट्विटर हैंडल से स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा, यह बार्क के सीईओ और अर्णब गोस्वामी के बीच हुए बातचीत के लीक स्नैपशॉट्स हैं. इन स्क्रीनशॉट से अर्णब गोस्वामी की राजनीतिक गलियारों में पहुंच और तमाम साजिशों का पता लगता है. प्रशांत भूषण ने आगे लिखा, साथ ही यह भी पता लगता है कि किस तरीके से मीडिया और अपनी पोजीशन का बतौर ब्रोकर दुरुपयोग किया गया.

भूषण ने ट्ववीट के साथ लिखा, कानून के रास्ते पर चलने वाले किसी भी देश में लंबे समय तक जेल भेजने के लिए ये काफी है. आपको बता दें कि अर्णब गोस्वामी और बार्क सीईओ के बीच चैट के कथित लीक स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया जा रहा है. ट्विटर यूजर्स अर्णब गोस्वामी हैशटैग के साथ ये कथित चैट शेयर कर प्रतिक्रिया दे रहे हैं. प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए पत्रकार मीना दास नारायण ने लिखा, और हम आपका भरोसा करें? क्या हमें आप एक भी वजह बता सकते हैं, ताकि आपकी बातों पर भरोसा किया जा सके?

अक्स नाम के यूजर ने लिखा, थोड़ी देर में पता चलेगा कि फिर से फेक न्यूज़ शेयर कर रहा है यह दंगाई समर्थक. इसके जवाब में महेश प्रकाश साहू नाम के यूजर ने लिखा, मोदी जी और स्मृति ईरानी की डिग्री के अलावा तो सब कुछ फेक ही है.

प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर परवेज खान नाम के यूज़र ने सवाल करते हुए लिखा, आखिर कोई मीडिया हाउस इस ब्रेकिंग न्यूज़ को कवर क्यों नहीं कर रहा है. बता दे कि अर्णब गोस्वामी अब बुरे फँस गए. जिस टीआरपी स्कैम में उनका नाम आ रहा था उसमें अब मुंबई पुलिस ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट यानी पूरक आरोप पत्र दाखिल किया है. इसमें 500 से ज़्यादा पन्नों की कथित तौर पर अर्णब गोस्वामी की वाट्सऐप चैट को सबूत के तौर पर पेश किया गया है.

वही वाट्सऐप चैट अब लीक हुई है और उसमें कई राज खुले हैं! वह वाट्सऐप चैट टीआरपी तैयार करने वाली एजेंसी के तत्कालीन प्रमुख पार्थो दासगुप्ता और रिपब्लिक टीवी के मुख्य संपादक अर्णब गोस्वामी के बीच बतायी जा रही है. मुंबई पुलिस ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट तीन दिन पहले ही दाखिल की है. लीक हुई इस वाट्सऐप चैट में ही 3 अक्टूबर 2019 को पार्थो ने जब पूछा कि एमआईएस सेक्रेटरी की बैठक में क्या होने वाला है तो अर्णब गोस्वामी ने कथित तौर पर पार्थो को बताया कि उन्होंने उन बिंदुओं को एक दिन पहले ही पीएमओ के साथ साझा कर दिया है.

इससे पहले की तारीख़ 30 अगस्त की एक वाट्सऐप चैट में जब अर्णब गोस्वामी कहते हैं कि वह प्रकाश जावड़ेकर से मिल रहे हैं तो पार्थो जावड़ेकर को ‘किसी काम का नहीं’ बताया. इस पर अर्णब ने कहा कि वह बैठक पीएमओ के लिए नहीं था और पीएमओ से अलग तरीक़े से निपटा जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here