खेती का खून, तीन काले कानून शीर्षक से राहुल गांधी ने जारी की बुकलेट

0
rahul gandhi

नए कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कृषि कानूनों पर ‘खेती का खून तीन काले कानून’ नास से एक बुकलेट जारी की है. इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन कानूनों को लेकर मोदी सरकार को घेरा.

राहुल गांधी ने कहा कि तीनों कृषि कानून खेती को बर्बाद कर देंगे, मैं इनका विरोध करता रहूंगा. मैं जेपी नड्डा के सवालों का जवाब नहीं दूंगा, सिर्फ किसानों और देश के सवालों का जवाब दूंगा. राहुल गांधी ने कहा कि पूरा देश खिलाफ हो जाए, मैं फिर भी सही के लिए लड़ता रहूंगा. मैं नरेंद्र मोदी या बीजेपी से नहीं डरता हूं. राहुल गांधी बोले कि ये लोग मुझे हाथ नहीं लगा सकते हैं, लेकिन गोली मरवा सकते हैं. कांग्रेस नेता राहुल गांधी बोले कि ये लोग किसानों को थकाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता है.

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार किसानों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है, सरकार किसानों से बात करने के लिए कह रही है. 9 बार बात हो गई, सरकार मामले में कोर्ट को घसीटती जा रही है. कांग्रेस नेता ने कहा कि हर इंडस्ट्री में चार-पांच लोगों का एकाधिकार बढ़ रहा है, मतलब इस देश के चार-पांच नए मालिक हैं. आज तक खेती में एकाधिकार नहीं हुआ. नरेंद्र मोदी चार-पांच लोगों के हाथों में खेती का पूरा ढांचा दे रहे हैं.

उन्होंने कहा कि ये तीन कानून एक प्रक्रिया है, ये यहां नहीं रूकने वाले. इनका लक्ष्य हिन्दुस्तान के किसान को खत्म करना और पूरा कृषि का सिस्टम अपने तीन-चार मित्रों को देना है. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री से ज्यादा समझ हिंदुस्तान के किसान को है कि क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है. यही सच्चाई है और इसका एक ही उपाय है कि इन तीन काले क़ानूनों को वापस लेना पड़ेगा.

अर्नब गोस्वामी पर राहुल गांधी का हमला

राहुल गांधी ने रिपब्लिक टीवी चैनल ग्रुप के मालिक और एंकर अर्णब गोस्वामी और BARC के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता की कथित WhatsApp चैट्स पर भी जवाब दिया है. राहुल गांधी ने सरकार को घेरते हुए कहा, अगर वायु सेना की सीक्रेट बातें अर्नब गोस्वामी को पता थी, तो इसका मतलब यह पाकिस्तान को भी पता होगी. देश की खुफिया जानकारी किसी पत्रकार को देना क्रिमिनल एक्ट है. इस बात की जांच होनी चाहिए कि अर्णव गोस्वामी को सेना की सीक्रेट जानकारी किसने दी। प्रधानमंत्री ने, गृह मंत्री ने, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने या किसी और ने?

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब एक पत्रकार ने जेपी नड्डा को लेकर राहुल से सवाल किया तो उन्होंने कहा, क्या जेपी नड्डा मेरे प्रोफेसर हैं जो मैं उनका जवाब दू. हिंदुस्तान के किसान का जवाब दूंगा. मैं एग्रीकल्चर रिफॉर्म की बात करता हूं. दरअसल, राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नेड्डा ने राहुल गांधी से कई सवाल पूछे थे. नड्डा ने राहुल से पूछा कि कांग्रेस चीन के मुद्दे पर हमेशा झूठ क्यों बोलती है? एक के बाद एक ट्वीट में नड्डा ने लिखा, राहुल गांधी ने तमिलनाडु में जल्लीकट्टू का आनंद लिया. जब सत्ता में थे तब उनकी पार्टी ने इस पर प्रतिबंध क्यों लगाया और तमिल संस्कृति का अपमान किया. क्या उन्हें भारत की संस्कृति और लोकाचार पर गर्व नहीं है? अब राहुल गांधी अपनी मासिक छुट्टी से लौट आए हैं, मैं उससे कुछ प्रश्न पूछना चाहूंगा. मुझे उम्मीद है कि वह आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्हें जवाब देंगे. राहुल ने कहा कि ये प्रेस कॉन्फ्रेंस मैं किसानों के लिए कर रहा हूं, तो किसी और मुद्दे पर भटकाने का कामन करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here