राकेश टिकैत की राजस्थान में एंट्री

0
rakesh-tikait

राजस्थान में किसान आंदोलन को लेकर अब एक बार फिर राजनीति गरमाने वाली है. प्रदेश में आंदोलन को तेज करने के लिये भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) अब यहां एंट्री कर रहे हैं.

अब किसान नेता राकेश टिकैत राजस्थान में एंट्री लेने जा रहे हैं. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत सहित अन्य किसान नेता आज अलवर आयेंगे. वे यहां लक्ष्मणगढ़ इलाके के झालाटाला गांव में आज होने वाली किसान महापंचायत में शिरकत करेंगे.

भारतीय किसान यूनियन के राजगढ़ तहसील अध्यक्ष धनपाल मीणा और प्रदेश महामंत्री भूपत सिंह बाल्यान ने बताया कि महापंचायत दोपहर करीब 2 बजे शुरू होगी. इसमें आसपास के हजारों किसान शामिल होंगे. दूसरी तरफ जल्द ही प्रदेश के शेखावाटी इलाके में भी बड़ी किसान महापंचायत आयोजित करने की तैयारियां की जा रही है.

इसको लेकर हाल ही में सीकर जिला मुख्यालय पर स्थित जाट बोर्डिंग में संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक का आयोजन किया गया. इस बैठक में कृषि सुधार कानूनों को वापस लिये जाने की मांग को लेकर चलाए जा रहे किसान आंदोलन पर चर्चा की गई.

जल्द घोषित होगी किसान महापंचायत की तारीख

संयुक्त किसान मोर्चा के प्रवक्ता बीएल मील ने बताया कि आगामी दिनों में सीकर जिला मुख्यालय पर किसानों की एक बड़ी महापंचायत का आयोजन किया जाएगा. इसमें किसान नेता राकेश टिकैत के साथ प्रदेश और राष्ट्रीय स्तरीय के किसान नेता शिरकत करेंगे. बैठक में महापंचायत की रूपरेखा और उसकी तैयारियों को लेकर चर्चा की गई. महापंचायत की तारिख अभी तय नहीं की गई है. जल्द ही इसकी घोषणा कर दी जायेगी.

वहीं सीकर जिले के खंडेला में कांग्रेस कार्यालय में बुधवार को किसानों के समर्थन में कांग्रेस की ओर से जनसम्मेलन आयोजित किया गया. इस दौरान किसानों आंदोलन में भाग लेकर लौटे खंडेला विधानसभा के किसानों को सम्मानित किया तथा आंदोलन के दौरान अपनी जान गंवाने वाले किसानों को ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की ओर से 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई.

प्रधानमंत्री के बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

जन सम्मेलन को संबोधित करते हुए पंचायत समिति प्रधान डॉ. गिरीराज सिंह ने प्रधानमंत्री की ओर से संसद में दिए गए बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने कहा कि अपने अधिकारों के लिए संघर्षरत किसानों को पीएम ने आंदोलनजीवी बता कर अपमानित किया है. कांग्रेस पार्टी की ओर से आयोजित इस जन सम्मेलन को खंडेला नगरपालिका अध्यक्ष याकूब मलकान, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बद्री नारायण सैनी और एडवोकेट राजेंद्र जाखड़ सहित कई किसान नेताओं ने संबोधित किया.

इसके अलावा आपको बता दे कि तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का आंदोलन जारी है. इसी बीच किसान संगठन ने आंदोलन को और तेज करने की घोषणा की है. दिल्ली की सीमाओं पर पिछले करीब 80 दिनों से किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने आज एलान किया है कि 18 फरवरी को रेल रोको अभियान चलाएंगे.

संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा, 18 फ़रवरी को दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक पूरे देश में रेल रोको अभियान चलेगा.  मोर्चा ने बयान में कहा कि 12 फ़रवरी से राजस्थान के सभी टोल प्लाज़ा किसान फ़्री कराएंगे. बयान में कहा गया है कि 14 फ़रवरी को पुलवामा हमले की सालगिरह पर जवान और किसान के लिए कैंडल मार्च और मशाल मार्च निकाले जाएंगे. 16 फ़रवरी को सर छोटू राम की जयंती पर किसान सॉलिडैरिटी शो करेंगे. किसान मोर्चा ने कहा कि हरियाणा के लोग बीजेपी और जेजेपी नेताओं पर किसानों के हित में दबाव बनाएं या फिर गद्दी छोड़ने को कहें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here