Rubika liyaquat ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए किया ट्वीट और हो गई ट्रोल

2
Rubika liyaquat

रुबिका लियाकत (Rubika liyaquat) सोशल मीडिया (Social media) के माध्यम से अक्सर मौजूदा सत्ता पक्ष के समर्थन में अपनी बात रखी रहती हैं. रुबिका लियाकत को कुछ लोग बीजेपी समर्थक न्यूज रीडर भी कहते हैं.

रुबिका लियाकत अपने चैनल पर अगर कोई डिबेट करती हैं, उस डिबेट में उन पर विपक्षी पार्टियों के प्रवक्ता अक्सर भाजपा का पक्ष लेने का आरोप भी लगाते हैं और कई बार सत्ता पक्ष से सवाल ना करके रुबिका लियाकत विपक्ष से ही सवाल करती ही नजर आती रहती है.

निष्पक्ष दिखने के लिए यह पत्रकार कभी-कभी बीजेपी के दूसरे नेताओं से सवाल जरूर पूछ लेते हैं. लेकिन कभी भी यह लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेकर किसी समस्या के लिए उन्हें जिम्मेदार नहीं बताते हैं. मीडिया पिछले 7 सालों से सत्ता के चरणों में लेटी हुई नजर आई है मीडिया विपक्ष का साथ नहीं देती.

रुबिका लियाकत (Rubika liyaquat) ने ट्विटर के माध्यम से एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, कभी कहते हैं कि मोदी तानाशाह है कभी कहते हैं मोदी डरपोक हैं… भाई अगर कोई तानाशाह है तो डरपोक कैसे हुआ और अगर डरपोक हैं तो तानाशाह कैसे हुआ?

Rubika liyaquat और यूजर्स की प्रतिक्रिया

रुबिका लियाकत के इस ट्वीट के बाद रुबिका लियाकत बुरी तरीके से ट्रोल हो गई. @ShyamMeeraSingh ने रुबिका लियाकत के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि तानाशाह डरपोक ही होता है रुबिका जी. जो जनता की लोकतांत्रिक ताक़त से डरता है, इसी डर में वो जनता के अधिकारों को कुचलने की कोशिश करता है और तानाशाह बन जाता है. इसलिए एक आदमी एक ही समय में तानाशाह और डरपोक दोनों हो सकता है. जैसे आप एक ही समय में पत्रकार भी हैं और एक दलाल भी.

इसी तरह से @rajeevRai ने लिखा कि तानाशाह हमेशा डरपोक ही होते है,जिनको हमेशा ये डर सताता है कि राज जनता छिन ना ले, इसी वजह से वो ज़ुल्म से आवाज़ दबाना चाहते है, कभी ये सोचा है तानाशाह का अंत इतना बुरा क्यों होता है?

रुबिका लियाकत को कई लोगों ने हरिशंकर परसाई (Hari Shankar Parsai) की बात याद दिलाई जिसमें उन्होंने कहा था कि, तानाशाह एक डरपोक आदमी होता है. अगर पांच गधे भी साथ-साथ घास खा रहे हों तो तानाशाह को डर पैदा होता है कि गधे भी मेरे खिलाफ़ साजिश कर रहे हैं.

आपको बता दें कि देश की अधिकतर जनता का मीडिया पर से भरोसा उठता जा रहा है. देश की अधिकतर जनता इन्हें गोदी मीडिया के नाम से भी पुकारती है. यह सत्ता पक्ष से सवाल ना करके हर वक्त, हर समस्या के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हैं और सत्ता पक्ष को बचाने की कोशिश करते हैं.

देश में महंगाई लगातार बढ़ रही है. पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. लेकिन यह लोग प्रधानमंत्री मोदी को टैग करके या कटघरे में खड़ा करके सवाल करने की हिम्मत नहीं दिखा पाते हैं. इसलिए भी अपने आप को पत्रकार कहने वाले यह न्यूज रीडर अक्सर जनता के निशाने पर आ जाते हैं.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here