संबित पात्रा एक बार फिर हुए ट्विटर पर ट्रोल

1
sambit-patra

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने किसान दिवस पर कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी की सरकार और मोदी खुद देश के मुख्य सेवक हैं और वे अन्नदाता किसानों को भगवान मानते हैं. पात्रा ने कहा नरेंद्र मोदी जी की सरकार और स्वयं मोदी जी जो हिंदुस्तान के मुख्य सेवक हैं. वह किसानों को अन्नदाता और भगवान मानते हैं.

पात्रा ने कहा, हमने देखा कि आज बहुत से किसान संगठन तीन बिलों के समर्थन में उतरे हैं. कृषि मंत्री से उन्होंने मुलाकात भी की और मोदी जी को धन्यवाद दिया है. इस खबर के सामने आने के बाद ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा वास्तव में घोर कलयुग है. सेवक वही जो मालिक का टेटुवा दबाने के लिए हमेशा तैयार है, उस पर से मोदी जी मुख्य सेवक हैं.

पात्रा ने आगे कहा कुछ वामपंथी दल किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर राजनीति साधने की कोशिश कर रहे हैं. संबित पात्रा के अनुसार इनसे दोगली पाखंडी पार्टी और कोई नहीं. इन्होंने दोगले पन की सारी सीमाओं को लांग दिया है. इन्होंने किसानों पर कई अत्याचार किए हैं, यह बात अलग है कि आज दिखावा कुछ और कर रहे हैं.

पिछले दिनों खबर आई थी कि यूपीए राज्य में 10 साल में जितना लोन राइट ऑफ हुआ उसका 3 गुना NDA के 5 साल में हुआ है, आरटीआई के माध्यम से यह खुलासा हुआ था. संबित पात्रा की बातों पर एक यूजर ने आरटीआई के खुलासे वाली न्यूज़ का स्क्रीनशॉट चिपका कर लिखा कि चोर सरकार मोदी सरकार.

एक अन्य यूजर ने लिखा कि अगर यह बिल किसान को नहीं चाहिए तो क्यों उन पर थोपा जा रहा है? पात्रा को जवाब देते हुए धीरज शुक्ला नाम के एक यूजर ने लिखा कि, 40 से अधिक किसानों की ठंड से मौत हो चुकी है. भाजपा की केंद्र में सरकार है. प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, किसान मंत्री, सभी भाजपा के हैं. क्या उद्योगपतियों का डर सता रहा है? चीन से संघर्ष के दौरान सैनिकों की शहादत पर क्या बोला था कि कोई घुसा ही नहीं है?

बता दें कि आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि 25 दिसंबर को 9 करोड़ किसानों को उनके खातों में पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 18000 करोड़ रुपये मिलेंगे. इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी मुख्य अतिथि होंगे. कार्यक्रम के लिए 2 करोड़ किसानों ने ऑनलाइन पंजीकरण कराया है.

इससे पहले दिल्ली में आज गांवों के गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और MoS कृषि कैलाश चौधरी से मुलाकात की और केंद्र के तीन कृषि कानूनों का समर्थन किया. तोमर ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि किसान हमारे प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे. वे सरकार के प्रस्ताव में जो भी जोड़ना और घटाना चाहते हैं, उन्हें हमें बताना चाहिए. हम उनकी सुविधा के समय और तारीख पर चर्चा के लिए तैयार हैं. मुझे समाधान की उम्मीद है.

तोमर ने कहा कि मैं बैंकों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं, क्योंकि उन्होंने महामारी के दौरान किसान क्रेडिट कार्ड कवर के तहत 1 करोड़ से अधिक किसानों को शामिल किया और पिछले 8 महीनों में किसानों को 1 लाख करोड़ रुपये दिए. हमने कुछ सुधार किए हैं और भविष्य में और अधिक लाएंगे.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here