अफगानिस्तान में सरकार बनाने को लेकर आया Taliban का बड़ा बयान

0
Taliban

अमेरिका के सामने एक तरह का धर्मसंकट खड़ा हो गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि 31 अगस्त तक अपने सैनिकों को अफगानिस्तान से बाहर निकाल लेंगे. लेकिन अब अमेरिका की तरफ से कहा गया है कि जरूरत पड़ी तो वह इस समय सीमा को बढ़ाने पर विचार कर सकते हैं.

दूसरी तरफ तालिबान (Taliban) ने कहा है कि अमेरिका को तय वक्त में ही वापस जाना होगा. अब अमेरिका के सामने यह मुश्किल है कि वह तालिबान (Taliban) की धमकी से रुक जाएगा या फिर अपने मित्र देशों की सलाह मानेगा.

वहीं तालिबान (Taliban) की तरफ से सरकार बनाने को लेकर नया बयान भी सामने आ चुका है. तालिबान सूत्रों के हवाले से AFP की तरफ से खबर दी गई है कि, जब तक अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में है तब तक तालिबान सरकार नहीं बनाएगा. तालिबान की तरफ से साफ कर दिया गया है कि जब तक एक एक अमेरिकी सैनिक वापस नहीं चले जाते तब तक सरकार नहीं.

अब अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के सामने धर्म संकट खड़ा हो गया है कि, अपने मित्र देशों के दबाव में अगर वह काबुल में अपने सैनिकों को रोकते हैं तो काबुल एयरपोर्ट पर तालिबान की चुनौती का सामना करना पड़ सकता है. अमेरिकी सरकार द्वारा सभी राजनीतिक दलों के फ्लोर लीडर्स को अफगानिस्तान की स्थिति की जानकारी भी दी गई है.

अमेरिका के मित्र देशों मे से एक ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि वह अमेरिका से अपील करेंगे कि लंबे वक्त तक सैनिकों को काबुल में ही रखा जाए. बोरिस इसी मसले पर G-7 देशों की मीटिंग बुलाई है, जिसमें प्रस्ताव रखा जाएगा कि अमेरिकी सेना को लंबे वक्त तक काबुल में रुकना चाहिए. क्योंकि अभी रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म नहीं हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here