ठाकरे सरकार ने नहीं दी राज्यपाल के विमान को उड़ान भरने की इजाज़त

0
Uddhav..

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को गुरुवार को सफर के लिए आधिकारिक विमान नहीं मिलने का मामला सामने आया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोश्यारी को उत्तराखंड के मसूरी में लाल बहादुर शास्त्री एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचना था.

हालांकि, जब राज्यपाल विमान में बैठने निकले, तो उन्हें बताया गया कि उनकी फ्लाइट को उड़ान भरने की इजाजत नहीं मिली. इसके बाद कोश्यारी को वीवीआईपी जोन में करीब आधे घंटे तक इंतजार करना पड़ा. इस वाकये के बाद कोश्यारी को कमर्शियल फ्लाइट से रवाना होना पड़ा.

बताया गया है कि इस बारे में राजभवन की तरफ से दो फरवरी को ही राज्य सरकार को सूचना दे दी गई थी. हालांकि, इस मामले में जब महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार से पूछा गया, तो उन्होंने मामले की जानकारी होने से इनकार कर दिया.

उन्होंने कहा, मुझे इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि गवर्नर के विमान को उड़ान नहीं भरने दी गई. मैं फिलहाल मंत्रालय जा रहा हूं. मैं इस बारे में विस्तार से जानकारी हासिल कर ही बात कर सकता हूं. गौरतलब है कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच मनमुटाव कोई पुराना नहीं है.

महाराष्ट्र में जब चुनाव के बाद कोश्यारी ने अचानक ही सुबह देवेंद्र फडणवीस को सीएम पद की शपथ दिलाई थी, तबसे शिवसेना उनका विरोध कर रही है. इसके बाद उद्धव के सीएम बनने से लेकर अब तक उनके राज्यपाल से कई मुद्दों पर मतभेद रहे हैं.

दोनों के बीच विवाद का सबसे ताजा उदाहरण तब मिला, जब गवर्नर ने सरकार की तरफ से विधान परिषद के सदस्यों को मनोनीत करने के लिए 12 नाम भेजे, लेकिन कोश्यारी ने इस पर सहमति नहीं दी. इसके बाद शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा था कि उन्हें किसी विशेष पार्टी के एजेंट के तौर पर काम नहीं करना चाहिए इससे जो लो भविष्य में राज्यपाल बनेंगे, उन्हें गलत संदेश मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here