Home Ministry 1

उदयपुर हत्याकांड के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. एनआईए और एसआईटी इनसे पूछताछ के लिए उदयपुर पहुंच चुकी हैं. इस हत्याकांड की जांच अब एनआईए अपने हाथ में लेगी. गृह मंत्री अमित शाह के ऑफिस ने ट्वीट करके यह जानकारी दी है. जानकारी में बताया गया है कि एनआईए को पूरे मामले की जांच करने को कहा गया है. इस केस में किसी संगठन और अंतरराष्ट्रीय भूमिका की भी जांच पड़ताल की जाएगी.

इधर उदयपुर शहर में पुलिस तैनात कर दी गई है. सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू है. एहतियातन 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है 1 महीने के लिए धारा 144 लागू की गई है. घटना के विरोध में उदयपुर समेत झालावाड़, समेत कई शहर बंद है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि क्या प्लान और षड्यंत्र था? किससे लिंक है, अंतरराष्ट्रीय लिंक है क्या? इन सभी बातों का खुलासा होगा. कुछ असामाजिक तत्व है जब तक वह न जुड़े तब तक ऐसी घटना नहीं होती. इस एंगल से भी जांच जारी है. उन्होंने कहा कि यह कोई मामूली घटना नहीं है. इसको हम गंभीरता से ले रहे हैं. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रेडिकल एलिमेंट से लिंक के बिना ऐसी घटना होती ही नहीं.

मुस्लिम संगठनों ने इस मामले की निंदा करते हुए कहा है कि हत्या को कभी भी जायज नहीं ठहराया जा सकता. मूसावरत के अध्यक्ष नावेद हामिद ने कहा है कि, उदयपुर में हत्या का मामला इस्लाम विरोधी और घृणा अपराध का मामला है. पैगंबर मोहम्मद ने अपने पूरे जीवन में कभी किसी शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाया था. पैगंबर के प्यार की आड़ में कुछ अपराधी ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. कानून के मुताबिक इन्हें सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here