mehbooba-mufti

जम्मू कश्मीर में एक आतंकवादी के कथित तौर पर बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख होने की खबर के बाद पीडीपी प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने बीजेपी पर सांप्रदायिक विभाजन और नफरत को बढ़ावा देने वाली पार्टी होने का आरोप लगा दिया है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी आपराधिक तत्वों का इस्तेमाल अपने सांप्रदायिक विभाजन के एजेंडे को बरकरार रखने और उसे आगे बढ़ाने के लिए कर रही है.

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया है कि बीजेपी सांप्रदायिक विभाजन और नफरत के अपने एजेंडे को बरकरार रखने और उसे आगे बढ़ाने के लिए ही ऐसे अपराधियों का इस्तेमाल कर रही है. उन्होंने मीडिया की उन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया दी जिसमें दावा किया गया था कि, उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्यारोपियों में शामिल युवक बीजेपी का सदस्य था. इसके साथ ही जम्मू क्षेत्र में गिरफ्तार लश्कर-ए-तैयबा का एक आतंकवादी जम्मू में बीजेपी का आईटी सेल प्रमुख था.

महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि पहले उदयपुर में कन्हैया लाल का कातिल और अब राजौरी में पकड़ा गए लश्कर-ए-तैयबा का एक और आतंकवादी, दोनों के बीजेपी से सक्रिय संबंध है. ऐसे अपराधिक तत्वों जिनके जरिए बीजेपी अपने एजेंडे को आगे बढ़ा रही है. उन्होंने कहा कि, चाहे गौरक्षक हों, आतंकवादी, सांप्रदायिक विभाजन और नफरत के अपने एजेंडे को कायम रखने के लिए बीजेपी इनका इस्तेमाल कर रही है.

उन्होंने कहा कि अगर उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या के आरोपियों में शामिल युवक या फिर जम्मू में पकड़ा गया लश्कर का आतंकी किसी और विपक्षी पार्टी का सदस्य होता तो उनके खिलाफ कई अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की जाती. महुआ मुफ्ती ने कहा कि कल्पना कीजिए कि इनमें से कोई भी अपराधी की किसी विपक्षी नेता से जुड़ा होता.

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अब तक कई प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी होती और गोदी मीडिया विपक्ष को बदनाम करने के लिए प्राइमटाइम के मुद्दे को शामिल कर इसे गोद ले लेती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here