PM Modi on 15aug

प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया. उन्होंने अपने भाषण में किसी बड़ी योजना का ऐलान नहीं किया, लेकिन उन्होंने इस भाषण में कुछ ऐसी बातें की है जिस पर आने वाले समय में देश में जबरदस्त बहस देखने को मिल सकती है. 2024 का चुनाव भी इन्हीं मुद्दों पर हो सकता है.

प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से चुनावी रैली की तरह भाषण दिया या यह कह सकते हैं कि संघ प्रचारक की तरह जबरदस्त भाषण दिया, जिसमें उन्होंने परिवारवाद और भ्रष्टाचार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने लाल किले की प्राचीर से भ्रष्टाचार से लेकर भ्रष्टाचारियों और उन्हें समर्थन देने वालों तक पर करारा हमला बोला. उन्होंने अपने भाषण में भले ही किसी राजनीतिक दल का नाम नहीं लिया, लेकिन उनका इशारा बिल्कुल साफ था. उन्होंने कहा कि कई लोग तो इस हाल तक चले जाते हैं कि कुछ लोग जिन्हें कोर्ट ने दोषी पाया है, जेल में हैं. उनका भी महिमामंडन करते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी गांधी परिवार पर हमले कर रहे थे बिना नाम लिए. इसके अलावा आज के भाषण में प्रधानमंत्री मोदी के निशाने पर नीतीश कुमार भी थे. हालांकि उन्होंने उनका नाम नहीं लिया, लेकिन आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में भ्रष्टाचार के आरोपी साबित हो चुके हैं और नीतीश कुमार ने उसी आरजेडी के साथ गठबंधन किया है. हालांकि प्रधानमंत्री मोदी जिस भ्रष्टाचार और परिवारवाद पर विपक्ष पर हमले कर रहे हैं, इन्हीं मुद्दों पर विपक्ष बीजेपी को और प्रधानमंत्री मोदी को आने वाले वक्त में धीरा घेर सकता है.

आज के भाषण से साफ हो चुका है कि बीजेपी ने एजेंडा सेट कर दिया है. बीजेपी भ्रष्टाचार और परिवारवाद के खिलाफ 2024 का चुनाव लड़ने वाली है और इसके लिए पिछले कुछ दिनों में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जिस तरीके से विपक्ष के नेताओं पर कार्यवाही हुई है उससे भी संदेश साफ है कि 2024 का चुनाव भ्रष्टाचार पर और परिवारवाद पर होगा. लेकिन विपक्ष लगातार सवाल उठाता रहा है और आने वाले वक्त में भी उठाएगा कि बीजेपी के नेताओं पर इस तरीके की कार्यवाही प्रवर्तन निदेशालय क्यों नहीं कर रहा है? जो भी हो आने वाले वक्त में जबरदस्त बहस देखने को मिल सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here