Bharat jodo yatra

मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस पिछले कुछ महीनों में काफी आक्रामक रवैया अपना रही है. जनता से जुड़े हुए मुद्दों को कांग्रेस लगातार उठा रही है. इस बीच 7 सितंबर से कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा (Bharat jodo yatra) शुरू करने वाली है. यह यात्रा देश के 12 राज्यों से होते हुए गुजरेगी और 3570 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. लगातार चुनावी हार से टूट चुकी कांग्रेस को उम्मीद है कि इस यात्रा के जरिए वह 2024 के चुनाव से पहले संगठन में नई ऊर्जा का संचार कर सकेगी.

अरविंद केजरीवाल

इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी एक यात्रा निकालने जा रहे हैं. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि आम आदमी पार्टी को जरूरत से ज्यादा प्रचार देना भी बीजेपी की चुनावी रणनीति का हिस्सा है, इससे वह कांग्रेस को कमजोर करने में कामयाब हो सकती है. यदि गुजरात में आम आदमी पार्टी मजबूत होती है तो इससे विपक्ष का वोट बिखर जाएगा. इससे कांग्रेस कमजोर होगी. दूसरी तरफ बात करें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तो वह दिल्ली यात्रा पर सबसे पहले राहुल गांधी से मुलाकात करने पहुंचे थे. हालांकि उसके बाद उन्होंने अरविंद केजरीवाल से भी मुलाकात की. नीतीश कुमार का कहना है कि अगर बीजेपी को 2024 में 50 सीटों के अंदर रोकना है तो विपक्ष को एकजुट होना होगा तमाम मतभेदों को भुलाकर.

भारत जोड़ो यात्रा

इन सब बातों से बेपरवाह कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा पर निकल रही है. भारत जोड़ो यात्रा के लिए कांग्रेस की तरफ से व्यापक तैयारियां की गई हैं. इस यात्रा की अगुवाई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी करने जा रहे हैं, जबकि उनके साथ पार्टी के 119 नेता भी यात्रा में शामिल होंगे. इन नेताओं का चयन साक्षात्कार के बाद किया गया है. 119 यात्रियों में 28 महिलाएं भी शामिल है. कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक 5 महीने में पूरी होने वाली इस यात्रा के दौरान कांग्रेस के नेताओं का रहना, खाना, सोना किस तरह होगा इस बारे में सभी लोग जानना चाहते हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक यात्रा के दौरान राहुल गांधी के साथ शामिल पार्टी के नेता ट्रकों में रखे हुए कंटेनरो में सोएंगे. राहुल गांधी सुरक्षा कारणों से एक अलग कंटेनर में सोएंगे. इस यात्रा में शामिल होने वाले नेताओं का चयन अलग-अलग प्रदेशों से किया गया है. अधिकतर नेता कन्याकुमारी से ही भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हो जाएंगे. क्योंकि यह यात्रा 5 महीने तक चलेगी. इसलिए यात्रा में जाने वाले सभी नेताओं को बताया गया है कि कपड़े धोने की सुविधा 3 दिन में एक बार ही मिलेगी.

इस यात्रा को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं में गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है. कांग्रेस इस यात्रा के जरिए लोगों को अपने से जोड़ने की कोशिश करेगी तथा देश के तमाम मुद्दों पर बीजेपी पर भी हमले जारी रखेगी. कांग्रेस का कहना है कि पिछले कुछ सालों में धर्म के नाम पर देश के अंदर नफरत पैदा करने की कोशिश हुई है, लोगों के बीच दूरियां पैदा की गई है. कांग्रेस लोगों को जोड़कर इन दूरियों को खत्म करने की कोशिश करेगी और कहीं ना कहीं 2024 को लेकर भी कांग्रेस इस यात्रा के जरिए अपनी तैयारियों का आकलन करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here