मौजूदा स्थिति पर Ravish Kumar का अब तक का बड़ा कटाक्ष

1
Ravish Kumar

मोदी सरकार और मीडिया की मिलीभगत पर रवीश कुमार ने एक बड़ा कटाक्ष किया है. रवीश कुमार ने एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने मोदी सरकार के मीडिया मैनेजमेंट को लेकर गुस्सा जाहिर किया है.

मोदी सरकार पिछले दिनों विधानसभा चुनाव में बिजी नजर आई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह तक पश्चिम बंगाल में चुनावी रैलियां करते नजर आए. इसी बीच महामारी का दौर चल रहा था और लाखों लोग अपनी जान गवा रहे थे.

रवीश कुमार (Ravish Kumar)

इसी को लेकर रवीश कुमार ने मीडिया और मोदी सरकार पर बड़ा कटाक्ष किया है. उन्होंने कहा है एक दिन हैडलाइन छप जाएगी कि जो लोग मरे हैं, उनकी अपनी खुद की गलती थी, हम तो चुनाव प्रचार कर रहे थे यह तो हमारा अपना काम है.

रवीश कुमार ने कहा है कि अदानी का जहाज हो और अम्बानी का पैसा तो कोई भी नेता बन सकता है. सरकार से पूछा कि आपने जनता के लिए क्या किया, देश के लिए क्या किया, आपने मानवता के लिए क्या किया?

रवीश कुमार ने अभिव्यक्ति की आजादी पर भी बात की है. उन्होंने कहा है कि आज आप चाहे किसी फिल्म पर बात करें, चाहे किसी खाने पर बात करें या फिर किसी कविता पर बात करें, लेकिन हर व्यक्ति को देश के मौजूदा हालात पर बात करने के लिए लौट कर आना ही होगा. आज जो देश की स्थिति है इस स्थिति के लिए आजादी की लड़ाई लड़ने वाले सेल्यूलर जेल में जाकर नहीं मरे थे.

रवीश कुमार ने कहा कि जो देश के मौजूदा हालात हैं इस स्थिति के लिए लोग फांसी के फंदे पर नहीं झूले थे कि एक दिन हम स्थिति में हो जाएंगे, हमारा देश इस स्थिति में हो जाएगा कि 84 साल का एक व्यक्ति जो अपने पैरों पर नहीं चल सकता, उसको इस देश की अदालत और NIA तक जमानत देने के लिए तैयार नहीं और वह व्यक्ति मर गया लानत है शर्म आनी चाहिए हमारे देश को.

रवीश कुमार ने कहा कि जो स्थिति देश की चल रही है, इसका मतलब यह है कि इस देश में ना ही कोई नायक है, ना ही कोई हीरो है और ना ही कोई सुपर स्टार. रवीश कुमार ने कहा है कि सारे लोग डरपोक भरे पड़े हैं. इसीलिए मैं बार-बार कहता हूं कि किसी को सुपरस्टार हम मत बोलिए कोई है नहीं इस देश में.

रवीश कुमार ने कहा कि इस देश में दिल्ली के अंदर दंगे होते हैं और एक व्यक्ति की आंख में गोली मारी जाती है और तीन लड़कियों को गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया जाता है और वह बाहर ना आ सके इसलिए आपने UAPA लगा दिया. रवीश कुमार ने कहा कि ठीक है 10 साल कोई नहीं बोलेगा लेकिन क्या यह देश हमेशा नहीं बोलेगा?

रवीश कुमार ने कहा कि इस वक्त में आपका होना या हमारा होना कहीं से भी महत्वपूर्ण नहीं है, महत्वपूर्ण यह है कि इस दौर में इतना झूठ कैसे हो गया? रवीश कुमार ने कहा कि दुनिया के इतिहास में इतना झूठ कहीं नहीं बोला गया होगा, सरकार की तरफ से और इतनी क्रूरता हिंदुस्तान की हुकूमत ने कभी नहीं बरती.

रवीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि सारा पैसा आपने अपनी इमेज बनाने के लिए खर्च किया. ताकि गांव के लोगों को लगे कि आपका दुनिया में बड़ा नाम है. लोगों को आप पैसे के दम पर इकट्ठा करते हैं, स्टेडियम भर देते हैं, ताकि गांव देहात के गरीब लोगों को लगे कि प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा नाम है दुनिया में.

इसके बाद रवीश कुमार ने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी की पोल पूरी दुनिया में खुल रही है, तब आप हिंदी के अखबारों में उसे छपने नहीं दे रहे हैं ताकि गांव देहात के लोग उसे पढ़ ना सके आप की हकीकत. रवीश कुमार ने कहा कि लोगों को अंधेरे में रखकर आप अपने घर में उजाला करना चाहते हैं तो मुबारक हो आपको.

रवीश कुमार ने कहा कि आप सरकार हैं, आपको जो करना हो कीजिए. सिक्योरिटी वापस लेना हो लीजिए, तड़पा कर मारना हो मार दीजिए, टांग कर मारना हो मार दीजिए. जो आप कर सकते हैं आप कीजिए. लेकिन इसके बाद भी आप दुनिया के किसी मेज पर सर उठा कर बात नहीं कर सकते कि हमारे यहां इस तरह का मीडिया है.

रवीश कुमार ने कहा कि अगर दुनिया के किसी मेज पर सर उठा कर बात करना भी होगा मीडिया के बारे में तो हम लोगों का ही नाम लेना पड़ेगा आपको. आप जाएंगे कहां पर. एक पत्रकार के मरने पर अगर आप ने शोक व्यक्त नहीं किया इसका मतलब है कि आप में दम नहीं है वह उदारता नहीं है.

उदारता की बात करते है, मानवता की बात करते हैं. भाषण तो कोई भी लिख देगा और दे देगा. भाषण में आप हर दूसरी लाइन में मानवता का इस्तेमाल करते हैं, क्या यह मानवता है? लोग कह रहे हैं कि यह सरकार तालिबान से बात नहीं कर रही है, जबकि आप गूगल सर्च करके देखिए बैक डोर से यह तालिबान से बात कर रहे हैं. मीटिंग कर रहे हैं और फिर खंडन भी कर रहे हैं.

रवीश कुमार ने कहा कि आप 4 लड़कों को झूठ बोलकर फसाए रहते हैं, उनको परीक्षाओं में नौकरी नहीं दे सकते. आप उनको धारा 370 पर भ्रम फैलाकर भरमा लीजिए, मंदिर की फोटो दिखा लीजिए. उसी में वह खुश हो जाएंगे. अमित शाह का बयान है कि हम व्हाट्सएप में कभी झूठ भी फैला लेते हैं, कभी सच भी फैला लेते हैं. अमित शाह गृहमंत्री है तो हम क्या कर सकते हैं.

अंबानी का जहाज हो अडानी का पैसा हो कोई भी चुनाव जीत सकता है, कोई भी नेता बन सकता है- रवीश कुमार

यह भी पढ़ेबॉलीवुड एक्टर का PM Modi और यूपी के CM योगी आदित्यनाथ पर तंज

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here