Rohini Singh UP Goverment

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार रोजगार को लेकर चाहे जो भी दावे करे लेकिन हकीकत यही है कि रोजगार के मोर्चे पर योगी सरकार पूरी तरीके से फेल रही है.

विज्ञापनों के जरिए पैसे खर्च करके चाहे योगी सरकार खुद का कितना भी प्रचार करा ले. लेकिन उत्तर प्रदेश के युवा रोजगार की तलाश में दर-दर भटक रहे हैं और उनकी सुध लेने वाला भी कोई नहीं है.

इन सबके बीच उत्तर प्रदेश में पेपर लीक होने से 2554 परीक्षा केंद्रों पर 1291628 परीक्षार्थियों की UPTET परीक्षा कैंसिल हो गई है. बनारस के 89 केंद्रों पर परीक्षा शुरू होने के करीब 20 मिनट बाद ही पर्यवेक्षक ने ऐलान किया कि, एडमिट कार्ड रख लो. अब अगले महीने इसी तारीख को इसी सेंटर पर और इसी वक्त एग्जाम होगा.

उत्तर प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए वरिष्ठ पत्रकार रोहिणी सिंह (Rohini Singh) ने एक ट्वीट किया है उन्होंने लिखा है कि, पहले प्री दीजिए, फिर मेंस दीजिए, फिर इंटरव्यू दीजिए, फिर पेपर लीक की खबर आएगी, परीक्षा निरस्त होगी, फिर हड़ताल कीजिए, लाठियाँ खाइए, फिर कोर्ट जाइए, फिर STF जाँच पड़ताल करेगी, फिर CBI जाँच की माँग कीजिए और गोल गोल घूमते रहिए. उत्तरप्रदेश में नौकरी पाना चक्रव्यूह भेदने जैसा है.

आपको बता दें कि इस पूरे पेपर लीक मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी एक ट्वीट किया है. मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके कहा है कि, हमारे नौजवान बहनों-भाइयों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा. आप सबको हुई असुविधा के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा जरूर मिलेगी. आपकी सरकार शुचितापूर्वक एवं पारदर्शी तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए कृतसंकल्पित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here