Sonia Gandhi

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को जांच एजेंसी ईडी के द्वारा 21 जुलाई को नेशनल हेराल्ड मामले में समन किए जाने के बाद पार्टी एक बार फिर सड़कों पर उतरने की तैयारियां कर रही है. इससे पहले राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से जब पूछताछ हुई थी उस समय भी कांग्रेस ने देश भर में प्रदर्शन किया था और लगभग कांग्रेस के सभी नेता सड़कों पर उतरकर गांधी परिवार के लिए आवाज उठाते हुए नजर आए थे.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की ईडी के सामने पेशी के दौरान कांग्रेस ने कई दिन तक राजधानी दिल्ली और तमाम बड़े शहरों में जोरदार प्रदर्शन किया था और इस दौरान कांग्रेस के कई नेताओं को हिरासत में भी लिया गया था. कांग्रेस नेताओं की बुधवार को हुई बैठक में सोनिया गांधी की ईडी के सामने पेशी के मामले में एक बार फिर जोरदार प्रदर्शन करने का फैसला लिया गया है.

इसके अलावा कांग्रेस की एक महत्वपूर्ण बैठक भी गुरुवार को बुलाई गई है और इसमें कांग्रेस के सभी महासचिव, राज्यों के प्रभारी, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और बड़े नेता भारत जोड़ो यात्रा और संगठन के बाकी कार्यक्रमों के बारे में चर्चा करेंगे. 18 जुलाई से शुरू होने जा रहे संसद के मानसून सत्र में भी कांग्रेस के सांसद संसद भवन के भीतर प्रदर्शन कर सकते हैं. कांग्रेस नेता मलिकार्जुन खड़गे ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा है कि सोनिया गांधी इस तरह की बातों से नहीं डरती है और पहले भी ऐसी चीजों का सामना कर चुकी हैं. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ईडी के दफ्तर जाएंगी और इस हुकूमत का सामना करेंगी.

इस मामले को लेकर कांग्रेस की बड़ी तैयारी भी सामने आई है. बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने नेशनल हेराल्ड मामले से जुड़े पेंपलेट भी तैयार किए हैं और इन्हें जनता के बीच बांटा जाएगा. कांग्रेस में नेशनल हेराल्ड मामले में उसके नेताओं पर लगे आरोपों को बदले की राजनीति करार दिया है. पार्टी ने आरोपों को पूरी तरीके से बेबुनियाद बताया है और कहा है कि जांच एजेंसी मोदी सरकार के इशारे पर विपक्षी नेताओं को निशाना बना रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here